Top New Best Awesome WhatsApp Status Messages in Hindi for Lovely Indians

Top and best new Whatsapp status in hindi Language get hear most popular status. Nowadays, when almost every Smartphone user makes use of WhatsApp for enjoying free instant messaging with their family and friends no matter where ever they are. Now even free voice calling feature has also been furnished to WhatsApp to remain in touch with other WhatsApp registered users by calling them for free with crystal clear voice quality.

1 – MAI HAR KISI K LIYE APNE AAP KO ACCHA SABIT NHI KR SKTA ….LEKIN MAI UN KE LIYE BEHATREEN HU , JO MUJHE SAMAJHTE HAI :(

2 – अपनी दोस्ती का बस इतना सा असूल है, जो तू कुबूल है…. तो तेरा सब कुछ कुबूल है…

3 – मिल सके आसानी से , उसकी ख्वाहिश किसे है? ज़िद तो उसकी है … जो मुकद्दर में लिखा ही नहीं…

4 – जल जाते हैं मेरे अंदाज़ से मेरे दुश्मन क्यूंकि एक मुद्दत से मैंने न मोहब्बत बदली और न दोस्त बदले .!!.

5 – TAKLEEF TO ZINDAGI DETI HAI MAUT KO TO LOG YUHI BADNAAM KARTE HAI!!

6 – TUM KISI OR SE LOVE KAR LO HAME SUDHARNE MAI TIME LAGEGA… 😛

7 – HAMNE CHOR DIYA SHOQ-A-MOHABAT KA…VARNA TERE SHAR KI KHIDKIYAN TO AAJ BHI ISARE KARTI HAI.

8 – YE SALA PYAR HO GYA KI UPSC KA EXAM HO GYA PASS HI HO RHA.

9 – मेरा वजूद नहीं किसी तलवार और तख़्त ओ ताज का मोहताज, में अपने हुनर और होंठो की हंसी से लोगो के दिल पे राज करता हैं….

10 – आज का विचार: अगर परछाईयाँ कद से और बातें औकात से बड़ी होने लगे तो समझ लीजिये कि सूरज डूबने ही वाला है..!

11 -दुकानें उसकी भी लुट जाती है अक्सर हमने देखा है…! . जो दिन भर में न जाने कितने ताले बेच देता है…!!

12 – YAARO KI MEHFIL AISE JAMAI JATI HAI, KHOLNE SE PEHLE BOTAL HILAI JATI HAI.

13 – FIQR KAR USKI JO TERI FIQR KRE, U TO ZINDGI MAI BHUT HAI HAMDARD.

14 – KEHTE HEIN WAQT SE PEHLE, OR KISMAT SE JIYADA, KISI KO KUCH NAHI MILTA…

15 -MERI ZINDAGI CHAL TOH RAHI THI … PAR TERE AANE SE MAINE JEENA SHURU KAR DIYA.

16 – MAIN MARNE KE LIYE NAHI PEETA … PEENE KE LIYE MARTA HUN..

17 – MAI APNA CHEHRA BHUL SKTA HU BUT TUMHARA NAHI.

18 – AKSAR CHIRAG WOHI BHUJATE HAI … JO PEHLE USSE ROSHAN KARTE HAI

19 – जहासे तेरी बादशाही खत्म होती है, वहासे मेरी नवाबी सुरु होती हे ।

20 – हमें पसन्द नहीं जंग में भी चालाकी,यारो…. जिसे निशाने पे रखते हैं, बता के रखते हैं…..!

21 -हर किसी के हाथ में बिक जाने को तैयार नही है ये, मेरा दिल है, तेरे शहर का अखब़ार नही..

22 – उस दिन भि काहा था और आज फिर कहते हे….सिर्फ उमर ही छोटी है. लेकिन जजबा तो दुनिया को मुठी में करने का रखते है….।।

23 – ताज कि फिकर तो बादशाहों को होती हे , हम तो आहिर हे , ….
आहिर अपनी सियासत खुद लेकर चलते हे ।
                             

24 – मेरी आँखों के जादु से अभी तुम कहा वाकिफ हो , हम उसे भी जीना सिखा देते हे जिसे मरने का सौक हो ।

25 – वो लोग भी चलते है आजकल तेवर बदलकर … जिन्हे हमने ही सिखाया था चलना संभल कर…!

26 – अच्छे होते है बुरे लोग ,… कम से कम अच्छे होने का दिखावा नहीं करते …..!!

27 – ना तो बिका हूँ ना ही कभी बिक पाऊंगा, ये ना समझना मै भी हज़ारो जैसा हूँ॥

28 – तेरी मोहब्बत कि तलब थी तो हाँथ फैला दिये हमने, वरना हम तो अपनी जिन्दगी के लिए भी दुआ नही मागते..

29 – तुझे तो हमारी मोहब्बत ने मशहूर कर दिया बेवफ़ा …. वरना तू सुर्खियों में रहे तेरी इतनी औकात नहीं……!

30 – मुझे हराकर कोई मेरी जान भी ले जाए मुझे मंजुर है, लेकिन…….
धोखा देने वालों को मै दुबारा मौका नही देता

31 – हुकुमत वो ही करता है जिसका दिलो पर राज हो…!! वरना यूँ तो गली के मुर्गो के सर पे भी ताज होता है…!!

32 – जरूरत और चाहत में बहुत फ़र्क है… कमबख्त़ इसमे तालमेल बिठाते बिठाते ज़िन्दगी गुज़र जाती है !!!!

33 – DHOKA DETI HAIN MASOOM CHEHRON KICHAMAK AKSAR …. !?!!?! …. HAR KAANCH KAY TUKRAY KO HEERA NAHI KEHTAY …. !

34 – कोई ना दे हमें खुश रहने की दुआ, तो भी कोई बात नहीं वैसे भी हम खुशियाँ रखते नहीं, बाँट दिया करते है…III

35 – मुकद्दर में लिखा के लाये हैं दर-ब-दर भटकना.. मौसम कोई भी हो परिंदे परेशान ही रहते हैं…

36 – वो भी आधी रात को निकलता है और मैं भी …… फिर क्यों उसे “चाँद” और मुझे “आवारा” कहते हैं लोग …. ?

37 – उसके हाथ की गिरिफ्त ढीली पड़ी तो महसूस हुआ यही वो जगह है जहाँ रास्ता बदलना है…

38 – सूरज सितारे चाँद मेरे साथ मेँ रहे जब तक तुम्हारे हाथ मेरे हाथ में रहे शाख़ों से टूट जाये वो पत्ते नहीं हम आँधी से कोई कह दे कि औक़ात में रहे

39 –  तेरे दीदार की तलाश में आते है तेरी गलियों में, वरना आवारगी के लिए पूरा शहर पड़ा हे ।

40 – आज़ाद कर दूंगा तुमको अपनी मुहब्बत की क़ैद
से , करे जो हमसे बेहतर तुम्हारी क़दर पहले वो शख्स तो ढूँढो…

41 – नहीं मिलेगा तुझे कोई हम सा,
जा इजाजत है ज़माना आजमा ले !!.
                                    

42 – अपनी मर्जी से तो मुझे खाक भी मंजूर है… तेरी शर्तो पर तो ताज भी मंजूर नहीं…!!!

43 – दुआओ को भी अजीब इश्क है मुझसे… वो कबूल तक नहीं होती मुझसे जुदा होने के डर से …!!!

44 – संघर्षो में यदि कटता है तो कट जाए सारा जीवन..!! कदम-कदम पर समझौता मेरे बस की बात नहीं….!!!!

45 – बात मुक्कदर पे आ के रुकी है वर्ना, कोई कसर तो न छोड़ी थी तुझे चाहने में !!

46 – तू मुहब्बत से कोई चाल तो चल, हार जाने का हौसला है मुझ में…

47 – मेरी तकदीर को बदल देंगे मेरे बुलंद इरादे,
मेरी किस्मत नहीं मोहताज मेरे हाँथों कि लकीरों कि !!!

48 – अब सज़ा दे ही चुके हो तो मेरा हाल ना पूछना,
अगर मैं बेगुनाह निकला तो तुम्हे अफ़सोस बहुत होगा…

49 – दूर हो जाने की तलब है तो शौक से जा
बस याद रहे की मुड़कर देखने की आदत इधर भी नही…….

50 – दिल में नफरत हो तो चेहरे पर भी ले आता हूँ, बस इसी बात से दुश्मन मुझे पहचान गये ।।

51 – मेरे बारे में सोचना भी मत , में दिल में आता हु , समज में नही !”

52 – मैं तेरे नसीब की बारिस नहीं जो तुज पे बरस जाऊ।।
तुझे तक़दीर बदल नि होगी मुझे पाने के लिए ।
Post a Comment